अब मानसिक रोग से ग्रसित व्यक्ति का किया जायेगा कोविड 19 टीकाकरण

अब मानसिक रोग से ग्रसित व्यक्ति का किया जायेगा कोविड 19 टीकाकरण

• बालिका गृह, नि: सहाय, भिखारी, घुमक्कड़ को भी लगाया जायेगा टीका
• राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने जारी किया निर्देश

मधुबनी, 24 सितंबर। जिले में वैश्विक महामारी से सुरक्षा प्रदान करने तथा तीसरी लहर की संभावनाओं से निपटने को लेकर टीकाकरण अभियान जोर-शोर से चल रहा है। ऐसे में हर व्यक्ति को टीकाकरण किया जाना आवश्यक है। विभाग का प्रयास है कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाये। इसी कड़ी में विभाग ने एक नयी पहल की शुरुआत की है। अब बिना पहचान पत्र वाले लाभार्थियों का भी टीकाकरण किया जायेगा। इस संबंध में अपर निदेशक (प्रतिरक्षण) सह राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी नरेंद्र कुमार सिन्हा ने सिविल सर्जन तथा जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी को ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। जारी पत्र में कहा गया है कि 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के वैसे नागरिक जो मानसिक रोग से ग्रसित है तथा बालिका गृह, नि: सहाय, भिखारी, घुमक्कड़ को चयनित कर योग्य लाभार्थियों को टीकाकृत किया जायेगा।

तैयार की जायेगी लाइन लिस्टिंग:
पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि जिलान्तर्गत 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के मानसिक रोग से ग्रसित व्यक्तियों को कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से भारत सरकार के निर्देशानुसार कोविड-19 टीकाकरण से आच्छादित किया जाना है।कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए जिला अंतर्गत मानसिक स्वास्थ्य संस्थानों से समन्वय स्थापित पर उक्त स्थान में ही विशेष सत्र आयोजित कर कोविड-19 टीकाकरण किया जाए। इसके अतिरिक्त बालिका गृह, नि:सहाय, भिखारी, घुमक्कड़ व्यक्तियों की सूची ग्रामीण क्षेत्रों क्षेत्रों में आशा तथा शहरी क्षेत्रों में आशा, महिला आरोग्य समिति के सदस्यों सिविल डिफेंस के स्वयंसेवी आदि के माध्यम से एकत्रित कर लाभार्थी के घर के समीप कोविड-19 टीकाकरण सत्र आयोजित कर टीकाकरण किया जाए।

विभिन्न संस्थाओं से ली जायेगी मदद :
इस अभियान में विभिन्न विभागों, संस्थाओं यथा: सोशल वेलफेयर, स्थानीय स्तर पर कार्यरत गैर सरकारी स्वैच्छिक संस्थाओं आदि का सहयोग प्राप्त किया जाय| तैयार लाइन लिस्ट के अनुसार निर्देश का अनुपालन कर कोविन पोर्टल पर सत्र निर्धारित कर टीकाकरण कराना सुनिश्चित किया जाय। इसके साथ ही इस श्रेणी के लाभार्थियों के टीकाकरण के आच्छादन का सभी स्तर पर अनिवार्य रूप से अनुश्रवण कर संलग्न प्रपत्र में राज्य को उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाय।

टीकाकरण के लिए चलाया जा रहा जागरूकता अभियान:
18 आयुवर्ष से लेकर वरिष्ठ नागरिक तक के लोगों को टीकाकरण किया जा रहा है। शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा करने के उद्देश्य से लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। क्योंकि कोविड-19 से बचाव एवं सुरक्षा के लिहाज़ से यही एक मात्र साधन है। इसके साथ ही नियमित रूप से हर आधा घण्टे पर अपने हाथों को रगड़-रगड़ कर अनिवार्य रूप से धोते रहना है।

Related posts

Leave a Comment