केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने लद्दाख के हम्बोटिंग ला में दूरदर्शन/आकाशवाणी ट्रांसमीटर का शुभारंभ किया

केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने लद्दाख के हम्बोटिंग ला में दूरदर्शन/आकाशवाणी ट्रांसमीटर का शुभारंभ किया

प्रसार भारती के सबसे ज्यादा ऊंचाई पर लगे ये ट्रांसमीटर सुदूर और सीमावर्ती क्षेत्रों को कवर करेंगे

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने आज लद्दाख में कारगिल के पास हम्बोटिंग ला में दूरदर्शन और आकाशवाणी के उच्च शक्ति वाले ट्रांसमीटर राष्ट्र को समर्पित किए। 10 किलोवाट के ट्रांसमीटर देश में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थापित टीवी और रेडियो ट्रांसमीटर हैं, जो औसत समुद्र तल से 4,054 मीटर (लगभग 13,300 फुट) की ऊंचाई पर स्थित हैं। लेह में लगे ट्रांसमीटर 3,501 मीटर (लगभग 11,450 फुट) की ऊंचाई पर स्थित हैं।

इस अवसर पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि प्रतिकूल मौसम की स्थिति और भौगोलिक इलाके को देखते हुए हम्बोटिंग ला स्थल सबसे दुर्गम स्थानों में से एक है। श्री अनुराग ठाकुर ने मौसम की प्रतिकूल स्थिति के बीच परियोजना को पूरा करने के लिए इंजीनियरों और श्रमिकों की टीम की सराहना की। ट्रांसमीटरों की दायरा त्रिज्या में 50 किलोमीटर से अधिक है। यह देखते हुए कि ट्रांसमीटर कारगिल के सुदूर सीमा क्षेत्र में लगभग 50,000 की आबादी को कवर करेंगे, श्री ठाकुर ने कहा कि यह संख्या देश के अन्य हिस्सों की तुलना में छोटी लग सकती है, लेकिन यह सीमावर्ती क्षेत्रों में प्रत्येक नागरिक तक पहुंचने की भारत सरकार की प्रतिबद्धता को दिखाता है। श्री ठाकुर ने यह भी घोषणा की कि डीडी कश्मीर में लद्दाख का प्रतिदिन का योगदान 1 अक्टूबर, 2021 से 30 मिनट से दोगुना कर एक घंटे तक कर दिया जाएगा।

श्री ठाकुर ने कहा कि रेडियो और टेलीविजन के मजबूत सिग्नल द्वारा सीमावर्ती इलाकों में कवरेज सरकार की प्रसारण नीतियों का एक महत्वपूर्ण पहलू है। उन्होंने कहा कि यह न केवल जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के संवेदनशील सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों को उचित जानकारी प्रदान करने के लिए, बल्कि पड़ोसी दुश्मन देशों के दुष्प्रचार का मुकाबला करने के लिए भी आवश्यक है। सीमावर्ती क्षेत्रों में स्थलीय कवरेज को सुदृढ़ करने से दर्शकों/श्रोताओं को देश की नीतियों, समाचारों और समसामयिक मामलों के बारे में अच्छी तरह से सूचित किया जा सकता है और साथ ही साथ विभिन्न कार्यक्रमों द्वारा उनका मनोरंजन किया जा सकता है।

यह इस क्षेत्र के छात्रों को दूरदर्शन और आकाशवाणी के माध्यम से शैक्षिक सामग्री भी उपलब्ध कराएगा। अपने टीवी, रेडियो और डिजिटल मंचों के माध्यम से, प्रसार भारती विभिन्न राज्य शिक्षा विभागों और संस्थानों के सहयोग से स्कूल एवं कॉलेज के छात्रों के लिए विभिन्न शैक्षिक सामग्री की पेशकश कर रहा है।

इस अवसर पर लद्दाख के सांसद श्री जे टी नामग्याल ने कहा कि नए ट्रांसमीटर क्षेत्र के विकास को लेकर केंद्र की प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं।

टीवी और रेडियो चैनलों को आम लोगों के लिए सुलभ बनाने के उद्देश्य से प्रसार भारती डीडी फ्री डिश सेवा हासिल करने वाले परिवारों को बिना किसी मासिक शुल्क के समाचार, मनोरंजन, शिक्षा सहित अलग-अलग विधाओं में 160 से अधिक टीवी चैनल और 48 रेडियो चैनल मुफ्त उपलब्ध करा रहा है। इस अनूठे फ्री टू एयर मॉडल की मदद से डीडी फ्री डिश चार करोड़ से अधिक घरों तक पहुंच के साथ सबसे बड़ा डीटीएच (डायरेक्ट टू होम) मंच बन गया है ।

Related posts

Leave a Comment