टांगी से वार कर पड़ोसियों ने वृद्ध की कर दी हत्या,पत्नी को भी किया घायल

टांगी से वार कर पड़ोसियों ने वृद्ध की कर दी हत्या,पत्नीटांगी से वार कर पड़ोसियों ने वृद्ध की कर दी हत्या,पत्नी को भी किया घायल को भी किया घायल

-डायन का आरोप लगाकर दिया घटना को अंजाम

-स्वजन ने पुलिस पर लापरवाही का लगाया आरोप

-सूचना के बाद भी 2 घंटे तक घटना स्थल पर नहीं पहुंची थी पुलिस

रिपोर्ट, मो. अंजुम आलम, जमुई (बिहार)

जमुई: खैरा थाना क्षेत्र के अरुणमा बांक गांव में शनिवार की सुबह डायन का आरोप लगाकर पड़ोसियों ने टांगी से वारकर एक वृद्ध को गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल वृद्ध को स्वजन द्वारा इलाज के लिए सदर अस्पताल लाने के दौरान रास्ते में ही वृद्ध की मौत हो गई, जबकि उनकी पत्नी को भी पीटकर बुरी तरह जख्मी कर दिया गया। मृतक वृद्ध की पहचान खैरा थाना क्षेत्र के अरुनमा बांक गांव निवासी 74 वर्षीय जागो पासवान के रूप में हुई है, जबकि मृतक की पत्नी सावित्री देवी का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। सूचना के बाद सदर अस्पताल पहुंचे थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान, एसआई एके आज़ाद द्वारा पीड़ित स्वजन से घटना की विस्तारपूर्वक जानकारी ली गई। शव का पोस्टमार्टम के लिए पुलिस द्वारा कागजी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। घटना के बाद सभी आरोपित फरार हैं पुलिस द्वारा गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। मृतक के पुत्र सुधीर पासवान ने बताया कि उनके पिता किसी काम से बाहर गए थे और वह अपने घर लौट रहे थे इसी दौरान पहले से घात लगाए खिरधर पासवान, बोढ़न पासवान, बाबूलाल पासवान, मोहन पासवान, मुकेश पासवान, राहुल पासवान, गोलू कुमार, संजय पासवान, मनोज पासवान, विकास पासवान, रोहित पासवान, मैना देवी, शारदा देवी, उमा देवी सहित अन्य लोगों द्वारा उन्हें पकड़ लिया गया और टांगी से वारकर हत्या कर दी गई। जब उसे छुड़ाने के लिए मां शारदा देवी गई तो उसे भी पीटकर घायल कर दिया गया फिर सभी लोगों द्वारा उनपर भी हमला करने की कोशिश की गई लेकिन ग्रामीणों ने उन्हें बचा लिया।
—-
-दो माह पहले मारपीट मामले में दिया गया था आवेदन

सुधीर पासवान ने बताया कि दो माह पहले उनलोगों द्वारा उनकी मां सावित्री देवी पर डायन का आरोप लगाकर मारपीट किया गया था। उसके बाद खैरा थाना में आवेदन दी गई थी। कार्रवाई नहीं होने के बाद एसपी प्रमोद कुमार मंडल को भी दो बार आवेदन दिया गया था लेकिन अबतक किसी पर कार्रवाई नहीं की गई। जिस वजह से उनलोगों का मनोबल बढ़ गया और पिता की हत्या कर दी।
—-
-फोन करने के बाद भी घटना स्थल पर नहीं पहुंची पुलिस

मृतक के पुत्र सुधीर पासवान ने बताया कि जिस वक्त उनके पिता को टांगी से काटा जा रहा था उस वक़्त खैरा थाना की पुलिस को फोन किया गया था लेकिन पुलिस फोन नहीं उठाई। वहां के एक एसआई को भी फोन किया लेकिन उन्होंने थानाध्यक्ष के कहने पर घटना स्थल पर जाने की बात कही। मृतक की पुत्री पिंकी देवी ने बताई की जब खैरा पूलिस घटना स्थल पर नहीं पहुंची तो घटना की जानकारी एसपी को दी गई थी। तब काफी देर के बाद पूलिस घटना स्थल पर पहुंची थी। जबतक उनके पिता की मृत्यु हो चुकी थी। अगर पुलिस पहले पहुंचती तो शायद उनके पिता बच जाते
—–
कोट

घटना की जानकारी हुई है। घटना के हर पहलुओं पर बारीकी से जांच- पड़ताल की जा रही है। घटना में संलिप्त किसी भी दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

डा. राकेश कुमार, एसडीपीओ जमुई

Related posts

Leave a Comment