आयुष्मान कार्ड से गरीबों के जीवन में आएगी खुशहाली

आयुष्मान कार्ड से गरीबों के जीवन में आएगी खुशहाली

– आयुष्मान भारत योजना के तहत जिले में गोल्डेन कार्ड बनाने का कार्य शुरू
-4.,91लाख परिवारों का बनना है गोल्डन कार्ड

मधुबनी, 17 फरवरी| प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत योजना के तहत जिले में गोल्डेन कार्ड बनाने का कार्य जिले के सभी प्रखंड में बुधवार से शुरू हो गया है। इस संबंध में जिला पदाधिकारी अमित कुमार ने सभी बीडीओ, पंचायती राज प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि कार्यपालक सहायकों से अपने पंचायतों में विशेष शिविर लगाकर अधिक से अधिक गोल्डेन कार्ड बनाया जाए। आयुष्मान भारत योजना के डीपीसी प्रियरंजन ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते गोल्डेन कार्ड निर्माण का काम बंद कर दिया गया था। अब 17 फरवरी से 3 मार्च तक विशेष पखवाड़ा में कैंप के जरिये कार्ड का निर्माण कराया जा रहा है। इस कार्ड के आधार पर गरीब और जरूरतमंद लोग बड़े अस्पतालों में पांच लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज करा सकते हैं।

4.,91,247 लाख परिवारों का बनना है गोल्डन कार्ड:
जिले में कुल लक्षित परिवार 4,91,247 परिवारों को गोल्डन कार्ड बनाने के लिए लक्षित किया गया है| जिसमें 80 हजार 84 परिवारों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध करा दिया गया है। इन लक्षित परिवार में 23 लाख 70 हजार 685 लाभार्थी सदस्य हैं। 1 लाख 54 हजार 979 लाभार्थी सदस्य को गोल्डन कार्ड निर्गत किया जा चुका है। इस योजना के तहत राज्य अथवा राज्य के बाहर सूचीबद्ध सभी सरकारी एवं निजी अस्पतालों तथा चिकित्सा महाविद्यालयों में पांच लाख रुपये तक का इलाज करा सकते हैं।

पंचायत स्तर पर कैंप लगाया जा रहा:
योजना के तहत अधिक से अधिक लोगों का कार्ड बनाने के लिए जिला में पंचायत स्तर पर कैंप लगाया गया है। जिससे हर व्यक्ति आसानी के साथ अपना कार्ड बनवा सकें। कार्ड बनाने की जिम्मेदारी पंचायत स्तर पर तैनात कार्यपालक सहायकों को दी गयी है। जो अपने क्षेत्र के लोगों का सुविधाजनक तरीके से सेवा देंगे। एक भी व्यक्ति कार्ड बनाने से वंचित नहीं रहें, इसका ख्याल रखा जा रहा।

जागरूक कर रही आशा, सहयोग में जनप्रतिनिधि
आशा कार्यकर्ता अपने क्षेत्र में घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करेंगी और कार्ड बनाने के लिए प्रेरित करेंगी। साथ ही, कार्ड बनने के बाद इलाज में होने वाले सरकारी मदद की भी जानकारी देंगी। कोई वंचित नहीं रहे, इसके लिए पंचायत स्तरीय जनप्रतिनिधि मुखिया, वार्ड सदस्य समेत अन्य जनप्रतिनिधि भी सहयोग करेंगे। साथ ही कार्ड बनाने को लेकर उन्हें जागरूक करेंगे।

Related posts

Leave a Comment