मानवता के पोषक थे भगवान बुध्द

*मानवता के पोषक थे भगवान बुद्ध*

*आदित्य कुमार सिंह/जीरादेई*

*सिवान/जीरादेई:-* प्रखण्ड क्षेत्र के तीतिरा टोले बुद्ध नगर बंगरा गांव में स्थित तीतिर स्तूप के पास बुद्ध मंदिर में गुरुवार को भगवान बुद्ध की पूजा अर्चना की गई तथा त्रिरत्न का पाठ किया गया । उपस्तिथ लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भगवान बुद्ध के प्रतिमा पर माल्यार्पण किया । महिला ,पुरुष व बच्चों ने भी भाग लिया । विरासत बचाओ समिति के अध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंह ने कहा कि भगवान बुद्ध मानवता के पोषक थे तथा पूरी दुनिया को शांति व करुणा का उपदेश दिए ।उन्होंने बताया कि अद्भुत संयोग ही है कि इसी बुद्ध पूर्णिमा के दिन बुद्ध का जन्म ,ज्ञान व निर्वाण हुआ था ।

 

 

श्री सिंह ने कहा कि बुद्ध ने सर्वप्रथम नारी व अभिवंचित वर्ग के उत्थान का बीजारोपण किये थे तथा उनका सिद्धान्त सनातन परंपरा व संस्कृति का पूर्णतः परिमार्जित वैज्ञानिक स्वरूप है । सेवतापुर पंचायत के युवा समाज सेवी सह मुखिया पति रमेश कुमार सिंह ने कहा भगवान बुद्ध ने समता मूलक समाज का निर्माण किया तथा बुद्ध का सिद्धांत वास्तविक जीवन जीने की कला को सीखाता है जिसका अनुसरण सदियों से मानवतावादी लोग करते आ रहे है ।श्री सिंह तीतिर स्तूप के पास एक बड़ा अशोक स्तम्भ लगाने का प्रस्ताव रखे जिसका अनुमोदन उपस्थित लोगो के द्वारा किया गया और कहा गया कि लॉक डाउन खत्म होते ही अशोक स्तम्भ का निर्माण कार्य आरम्भ करा दिया जाए । इस मौके मनीष कुमार गिरी ,वीरेंद्र तिवारी , सच्चिन्द्र दूबे ,समाजसेवी चंद्रमा सिंह,पियूष,
बलिंद्र सिंह ,दीपू सिंह ,हरिशंकर चौहान ,राजेश बैठा , अंगद प्रसाद ,योगेंद्र शर्मा ,प्रकाश सिंह,प्रमोद यादव आदि उपस्थित थे ।

Related posts

Leave a Comment